मुजफ्फरपुर की बेटियों के लिए राजद का 4 अगस्त को कैंडल मार्च


स्त्रीकाल डेस्क 

राष्ट्रीय जनता दल ने बिहार के मुजफ्फरपुर के बालिका-आश्रय-गृह में बच्चियों से बलात्कार को देशव्यापी मुद्ददा बनाने का मन बना लिया है. पार्टी इस मुद्दे पर नीतीश सरकार को घेरने की तैयारी में है. इसने बिहार के दोनो ही सदनों में इस मुद्दे को उठाया है. विधानसभा में नेता विपक्ष तेजस्वी खुद मुजफ्फरपुर का दौरा कर सरकार को घेर चुके हैं. 30 जुलाई को स्त्रीकाल, राइड फॉर जेंडर, एनएफआईडवल्यू, ऐपवा और टेढ़ी उंगली के संयुक्त कॉल को भी तेजस्वी यादव ने खुला समर्थन देकर बिहार भवन में प्रदर्शन के दौरान अपनी पार्टी के दो नेताओं को भेजा था.



राष्ट्रीय जनता दल ने मुजफ्फरपुर की बेटियों के लिए अपने नए कदम के तहत 4 अगस्त को दिल्ली के जंतर-मंतर पर शाम 5.30 बजे कैंडल मार्च का आह्वान किया है, जिसमें तेजस्वी यादव खुद शामिल होंगे. खबर है कि कैंडल मार्च में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल भी शामिल होंगे.

क्या है मुजफ्फरपुर में बच्चियों से बलात्कार का यह मामला और उसके कैसे इस मुद्दे पर पूरा देश प्रतिरोध कर रहा है, जानने के लिए नीचे ख़बरों का लिंक देखें. 

बिहार में बच्चियों के यौनशोषण के मामले का सच क्या बाहर आ पायेगा?

मंत्री के पति का उछला नाम तो हाई कोर्ट में सरेंडर बिहार सरकार: सीबीआई जांच का किया आदेश

बिहार के 14 संस्थानों में बच्चों का यौन शोषण: रिपोर्ट

बच्चों के यौन उत्पीड़न मामले को दबाने, साक्ष्यों को नष्ट करने की बहुत कोशिश हुई: एडवोकेट अलका वर्मा

'सनातन' कहाँ खड़ा है मुजफ्फरपुर में: हमेशा की तरह न्याय का उसका पक्ष मर्दवादी है, स्त्रियों के खिलाफ

पैसे की हवस विरासत में मिली थी हंटर वाले अंकल 'ब्रजेश ठाकुर' को !

ब्रजेश ठाकुर की बेटी के नाम एक पत्र: क्यों लचर हैं पिता के बचाव के तर्क

30 जुलाई को देशव्यापी प्रतिरोध की पूरी रपट: मुजफ्फरपुर में बच्चियों से बलात्कार के खिलाफ विरोध

बिहार बंद तस्वीरों में: राकेश रंजन की कविता के साथ

गायब है इस मामले की अहम कड़ी, जिसके पकडे जाने पर फंस सकते हैं शासन के शीर्ष तक लोग

बच्चियों से बलात्कार के सूत्रधार ब्रजेश ठाकुर की एक ख़ास साथी रही मधु कुमारी अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. वह 2003 से ही ठाकुर की खास राजदार रही है.  मधु मुजफ्फरपुर और बेतिया में सेक्स वर्करों के लिए पुनर्वास योजना चलाती थी. पुलिस सूत्रों के अनुसार वह सेक्स वर्करों को पटना के ब्यूटी पॉर्लरों में भेजती थी. इसी उदघाटन के साथ पटना के सिंहासन तक जांच की आंच पहुँच सकती है, हालांकि पहले से ही समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति का नाम इस मामले से जुड़ चुका है.

मधु कुमारी 

मधु ने 2003 से शुरू किया था अभियान
साल 2003 में मुजफ्फरपुर के रेड लाइट एरिया में पुनर्वास के लिए तत्कालीन एसपी ने अभियान शुरू किया था,उसी समय मधु ने कुछ महिलाओं को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए 'वामा शक्ति वाहिनी' नाम से संस्था की शुरुआत की. बिहार में किसी संस्था द्वारा  रेड लाइट एरिया की महिलाओं के लिए पुनर्वास का यह पहला संगठन बताया जाता है. खबरों के अनुसार मधु कुमारी और ब्रजेश ने मिलकर 50 महिलाओं का एक गैंग तैयार किया और बिहार सरकार से कई योजनाओं में फंड लिए. वर्तमान में मधु की वामा शक्ति वाहिनी बिहार राज्य एड्स कंट्रोल सोसाइटी द्वारा सेक्स वर्करों को एचआईवी से बचाने के लिए मुजफ्फरपुर और बेतिया में योजनाएं चला रही है. य मुजफ्फरपुर में ही ब्रजेश ठाकुर की सेवा संकल्प समिति एड्स कंट्रोल सोसाइटी की दो योजनाएं चला रहा है.

स्त्रीकाल का प्रिंट और ऑनलाइन प्रकाशन एक नॉन प्रॉफिट प्रक्रम है. यह 'द मार्जिनलाइज्ड' नामक सामाजिक संस्था (सोशायटी रजिस्ट्रेशन एक्ट 1860 के तहत रजिस्टर्ड) द्वारा संचालित है. 'द मार्जिनलाइज्ड' मूलतः समाज के हाशिये के लिए समर्पित शोध और ट्रेनिंग का कार्य करती है.
आपका आर्थिक सहयोग स्त्रीकाल (प्रिंट, ऑनलाइन और यू ट्यूब) के सुचारू रूप से संचालन में मददगार होगा.
लिंक  पर  जाकर सहयोग करें :  डोनेशन/ सदस्यता 

'द मार्जिनलाइज्ड' के प्रकशन विभाग  द्वारा  प्रकाशित  किताबें  ऑनलाइन  खरीदें :  फ्लिपकार्ट पर भी सारी किताबें उपलब्ध हैं. ई बुक : दलित स्त्रीवाद 

संपर्क: राजीव सुमन: 9650164016,themarginalisedpublication@gmail.com
Blogger द्वारा संचालित.