महिला की मुहीम का असर: पासपोर्ट अधिकारी 'मिश्रा' का तबादला, अंतर्धार्मिक विवाह को आधार बना महिला का पासपोर्ट बनाने से किया था इनकार


आवाज उठाने पर कट्टरपंथ के खिलाफ भी जीता जा सकता है. इसका ताजा उदाहरण है लखनऊ के पासपोर्ट अधिकारी 'विकास मिश्रा' पर कार्रवाई. उसने एक हिन्दू महिला का मुस्लिम पुरुष के साथ शादी का आधार बना उसका पासपोर्ट बनाने से मना कर दिया था. ऐसे कई मामले इन दिनों आ रहे हैं. एक लडकी ने धर्म के आधार पर एयरटेल के मुस्लिम अधिकारी का किया अपमान तो कम्पनी ने अधिकारी का साथ देने की जगह लड़की का साथ दिया, वहीं 'ओला' टैक्सी सर्विस ने इसी पैटर्न पर अपने मुस्लिम ड्रायवर का अपमान होने पर ड्रायवर का साथ दिया और हिन्दू कस्टमर के खिलाफ सार्वजनिक बयान भी दिया था. क्या है ताजा मामला:  


तन्वी सेठ और अनस सिद्दकी

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में लखनऊ के रीजनल पासपोर्ट अधिकारी ने बताया कि तनवी को पासपोर्ट जारी कर दिया गया है, वहीं अनस का पासपोर्ट रिन्यू हो गया है. पत्नी तन्वी और पति अनस को गुरुवार को पासपोर्ट ऑफिस बुलाया गया था, जहां उन्हें उनके नए पासपोर्ट सौंप दिए गए हैं.  अधिकारी ने कहा, 'पासपोर्ट जारी कर दिए गए हैं. आरोपी अफसर विकास मिश्रा के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है और उनके खिलाफ जल्द कार्रवाई की जाएगी. हमें इस घटना पर खेद है और ये सुनिश्चित करते हैं कि ऐसी घटना दोबारा नहीं होगी।' इस बीच विकास मिश्रा का तबादला भी कर दिया गया है.

तन्वी सेठ का ट्वीट


हुआ क्या था:
तन्वी ने धर्म के आधार पर अपमानित करने का आरोप पासपोर्ट अधीक्षक 'विकास मिश्रा' पर लगाया था. इस आशय का ट्वीट करते हुए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का ध्यान उसने इस ओर खींचा. गौरतलब है कि लखनऊ की तन्वी सेठ ने 2007 में अनस सिद्दकी से शादी की थी. तन्वी का आरोप है कि 20 जून को वे अपनी 6 साल की बच्ची के साथ पासपोर्ट बनाने लखनउ स्थित पासपोर्ट ऑफिस गये थे. दो काउन्टर पर प्रक्रिया पूरी कर जब वह तीसरे काउंटर पर पासपोर्ट अधीक्षक विकास मिश्रा के पास गयी तो उसने कागजों का निरीक्षण करने के बाद कहा कि 'अपना नाम बदल लो. तुमने मुस्लिम से शादी की और अभी तक अपना नाम नहीं बदला?' वह उसके पति के धर्म को लेकर उसे अपमानित करने लगा. जब वह इसकी शिकायत लेकर ऊपर के अधिकारी के पास गयी तो इसी बीच विकास मिश्रा ने उसके पति को धर्म बदलने को कहा. मिश्रा और अन्य कर्मचारी उन्हें अपमानित करते रहे और अंतर्धार्मिक शादी पर टिप्पणियाँ करते रहे. इस घटना से आहत तन्वी ने विदेशमंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट किया तो महकमे में हडकंप मच गया. तन्वी और अनस नोएडा की एक कम्पनी में कार्यरत हैं.

यह लेख/विचार/रपट आपको कैसा लगा. नियमित संचालन के लिए लिंक क्लिक कर आर्थिक सहयोग करें: 
                                             डोनेशन   
स्त्रीकाल का संचालन 'द मार्जिनलाइज्ड' , ऐन इंस्टिट्यूट  फॉर  अल्टरनेटिव  रिसर्च  एंड  मीडिया  स्टडीज  के द्वारा होता  है .  इसके प्रकशन विभाग  द्वारा  प्रकाशित  किताबें  ऑनलाइन  खरीदें : अमेजन पर   सभी  किताबें  उपलब्ध हैं. फ्लिपकार्ट पर भी सारी किताबें उपलब्ध हैं.संपर्क: राजीव सुमन: 9650164016,themarginalisedpublication@gmail.com

Blogger द्वारा संचालित.