जीवित पत्नी का मृत्यु प्रमाणपत्र बनाकर केंद्रीय रिजर्ब पुलिस बल के जवान ने की दूसरी शादी: पुलिस गिरफ्तार करने से बच रही है


जी आप नवरात्र मनायें, नारी शक्ति की पूजा करें और एक स्त्री अपनी पीड़ा के साथ पटना की गलियों में भटक रही है यह कहती हुई कि 'देखो मैं ज़िंदा हूँ.' मेरे पति और तुम्हारे देशभक्त जवान ने मेरे जीते जी मृत्यु प्रमाण पत्र बनाकर दूसरी शादी कर ली है.  तुम्हारी पुलिस हाँ, नीतीश जी की पुलिस, राष्ट्रभक्तों और देवीभक्तों की पुलिस उसे गिरफ्तार करने से हिचक रही है.



यह कहानी अभी और इन्हीं नवरात्रों में घट रही है.जब आप अपने घर में स्त्रीपूजा के लिए कलश बैठा रहे हैं तब नीलम कुमारी अपने ज़िंदा होने के सबूत के साथ महिला थाने का चक्कर लगा रही है हाथ में पति द्वारा बनवाया गया मृत्यु प्रमाणपत्र (कोलकाता महानगरपालिका से जारी) लेकर यह गुहार लगाते हुए कि मुझे  और मेरे दो बच्चों को न्याय दिलवाओ.

नीलम ने स्त्रीकाल से बातचीत करते हुए बताया कि ' मेरे पति मनोज कुमार सिंह, जो सीआरपीएफ 173 बटालियन, मणिपुर में हेड कांस्टेबल हैं, मेरे साथ मार -पीट करते रहे और जबरदस्ती तलाक पेपर पर साइन लेकर बिना मेंटेनेंस दिये मेरे दो बच्चों के साथ मुझे छोड़कर चले गये. मैं इस जबरदस्ती के खिलाफ मुकदमा लड़ ही रही थी, अपने बच्चों के और अपने हक़ के लिए कि मुझे सूचना मिली कि मेरा मृत्यू प्रमाणपत्र बनाकर मनोज कुमार सिंह ने दूसरी शादी भी कर ली है. मैंने सीआरपीएफ के कार्यालय से सूचना अधिकार के तहत प्रमाणपत्र की कॉपी मंगवाई और पटना के गांधी मैदान महिला थाना में प्रमाण सहित शिकायत की. पुलिस पहले तो शिकायत ले नहीं रही थी फिर एसपी के कहने पर उन्होंने एक और एफआईआर दर्ज कर लिया. हालांकि पुलिस कार्रवाई में सुस्त दिख रही है.'



लड़की पर तेज़ाब फेकने की धमकी दे रहा है सेना का अफसर
स्त्रीकाल से बातचीत करते हुए महिला थाने की इंचार्ज विभा कुमारी ने बताया कि ' सीआरपीएफ के संबंधित बटालियन को लिखा गया है कि आरोपी को गिरफ्तार कर भेजें.' हालांकि विभा कुमारी यह नहीं बता पायीं कि दो महीने गुजर जाने के बाद भी उसे गिरफ्तार करने की कोई पहल महिला थाने ने क्यों नहीं ली!

Blogger द्वारा संचालित.