मोदी जिनके प्रशंसक वे दे रहे महिला पत्रकार को रेप की धमकी


महिला पत्रकार को रेप की धमकी देने वाले अपने बहुत से प्रशंसकों को खुद पीएम मोदी और अमित शाह फॉलो करते हैं।

बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर की फिल्म 'टॉयलेट-एक प्रेम कथा' को लेकर महिला पत्रकार और फिल्म समीक्षक एना वेटिकड  ने जब इस फिल्म की प्रशंसा करते हुए नरेंद्र मोदी के प्रसंग में एक टिपण्णी की तो उन्हें मोदी के प्रशंसकों ने बलात्कार की धमकी देनी शुरू कर दी. दरअसल इस महिला पत्रकार ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि अगर इस फिल्म को सरकार की तारीफ करने के एजेंडे से ना बनाया जाता, तो फिल्म काफी बेहतर बनती। आपको बता दें कि फिल्म में एक जगह पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ करते हुए कहा बी जा रहा है कि हमारे प्रधानमंत्री ने शौचालय बनवाने के लिए काफी अच्छे काम किये हैं और कर रहे हैं।


पीएम मोदी का नाम जुड़ता देख प्रधानमंत्री मोदी के प्रशंसक एना को गंदी-गंदी गालियां देने लगे। कुछ यूजर्स ने तो उन्हें रेप करने तक की धमकी देनी शुरू कर दी। एना ने ट्रोलर्स के इस व्यवहार पर ट्वीट करते हुए एक सवाल किया है कि इस फिल्म की आलोचना को हिंदू हेट के रूप में क्यों देखा जा रहा है? इस पर भी उन्हें ट्रोल करते हुए एक यूजर ने यहां तक लिख दिया है कि उन्हें अपना नाम बदलकर एना वैटिकन कर देना चाहिए। इसके अलावा सोशल मीडिया पर उन्हें लेकर गाली-गलौच तक हो रही है। पत्रकार को गालियां देने वाले बहुत से ऐसे यूजर्स भी हैं जिन्हें खुद पीएम मोदी और अमित शाह फॉलो करते हैं।


प्रधानमंत्री जिन्हें फॉलो करते हैं उनके महिला विरोधी रवैयों के कारण पहले भी प्रधानमंत्री की आलोचना होती रही है, लेकिन वे ऐसे सेक्सिस्ट प्रशासकों को लगातार फॉलो किये जा रहे हैं. आल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन के नेशनल काउन्सिल की सदस्य अपराजिता कहती हैं कि 'ऐसे लोगों को प्रधानमंत्री द्वारा फॉलो करना इस पद की गरिमा को अपूरणीय क्षति पहुँचाता है.'

फिल्म बॉक्स ऑपिस पर हिट है। हर तरफ इस फिल्म की चर्चा हो रही है। फिल्म ने अब तक 100 करोड़ से अधिक की कमाई कर ली है।

स्त्रीकाल का प्रिंट और ऑनलाइन प्रकाशन एक नॉन प्रॉफिट प्रक्रम है. यह 'द मार्जिनलाइज्ड' नामक सामाजिक संस्था (सोशायटी रजिस्ट्रेशन एक्ट 1860 के तहत रजिस्टर्ड) द्वारा संचालित है. 'द मार्जिनलाइज्ड' मूलतः समाज के हाशिये के लिए समर्पित शोध और ट्रेनिंग का कार्य करती है.
आपका आर्थिक सहयोग स्त्रीकाल (प्रिंट, ऑनलाइन और यू ट्यूब) के सुचारू रूप से संचालन में मददगार होगा.
लिंक  पर  जाकर सहयोग करें :  डोनेशन/ सदस्यता 

'द मार्जिनलाइज्ड' के प्रकशन विभाग  द्वारा  प्रकाशित  किताबें  ऑनलाइन  खरीदें :  फ्लिपकार्ट पर भी सारी किताबें उपलब्ध हैं. ई बुक : दलित स्त्रीवाद 
संपर्क: राजीव सुमन: 9650164016,themarginalisedpublication@gmail.com
Blogger द्वारा संचालित.