अभी तक रॉड, तेज़ाब, मोमबत्ती और अब औरत के गुप्तांग में सिगरेट भी: सोशल मीडिया में आक्रोश

स्त्रीकाल डेस्क 

इस रिपोर्ट के लिखे जाने तक सोशल मीडिया में अपने विरोध के बावजूद अमेज़न इंडिया ने  महिलाओं  के यौन अंग को टार्गेट कर बनाई गई ऐश ट्रे को अपनी साईट से हटाया नहीं था. 'ट्राईपोलर क्रिएटिव टेबलटॉप ऐश-ट्रे'.  नाम से अपने प्रोडक्ट को बेचने वाली कंपनी ने अमेज़न पर इसे सजावट के लिए एक क्रिएटिव प्रोडक्ट बताया है.



ऐशट्रे का इमेज एक टब में लेटी महिला का है, जिसके खिलाफ  सोशल इंडिया पर महिलाओं ने अपना गुस्सा जाहिर किया. कई ने अमेज़न के साईट पर जाकर उसकी भर्त्सना की और ऐशट्रे को अपने सेल प्रोडक्ट से हटाने की मांग की. अभी तक अमेज़न में इसे अपने यहाँ बिक्री के लिए बनाये रखा है, इसके बावजूद कि प्रीति कुसुम की शिकायत के जवाब में अमेज़न ने त्वरित कार्रवाई का आश्वासन भरा मेल भेजा.

अपनी प्रतिक्रया में श्वेता यादव ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा: 

तस्वीर आपको वाहियात लग सकती है और इसके लिए आप मुझे सलाह से लेकर गालियों तक से नवाज़ सकते हैं ... लेकिन रुकिए ये तस्वीर मेरी खींची हुई नहीं है और ना ही यह सिर्फ तस्वीर है। जी हाँ यह ऐश ट्रे है जिसे आपका प्यारा Amazon.in बेच रहा है पूरे बेशर्मी से... यह तस्वीर मुझे शिल्पी शिल्पी की वाल से मिली। एक बार मन हिचका थोड़ी शर्म भी आई सोचा देखकर अनदेखा कर दूँ लेकिन कर नहीं सकी तो नतीजन लिख रही हूँ। अब सोचिये कितनी घटिया मानसिकता होगी उस आदमी की जिसने स्त्री की योनी में सिगरेट बुझाने की सोची? उसकी कुंठा का अंदाजा लगाइये। क्या वह उस बलात्कारी की सोच से जरा भी अलग है जो रेप करने के बाद रॉड किसी महिला की योनि में घुसेड़ देता है? उसकी सोच कितनी उस आदमी से या सड़क चलते मनचले से अलग है जो सड़क चलती लड़कियों को कपड़े के ऊपर से भी चीर- फाड़ कर रख देते हैं और लड़की को बराबर यह अहसास दिला जाते हैं कि आखिर वह घर से बाहर निकली ही क्यों? अब अमेजन से अगर कोई डेटा मिले तो वह भी निकलवाइए, यकीन मानिए अब तक का सबसे ज्यादा बिकने वाला ऐश ट्रे निकले तो मुझे बहुत आश्चर्य नहीं होगा। अब इतना कह दिया तो लगे हाथ एक बात और भी बता दूँ। ट्रे का दाम देख लीजिये आपको अंदाजा हो जाएगा की इसे खरीदने वाले कौन होंगे? कोफ़्त होती जा रही है इस दुनिया से... यह समाज औरतों के प्रति मानसिक बीमारों का हैं .... आप माने या नहीं पर हकीकत यही है सबसे महत्वपूर्ण बात अमेजन पूरे शान से इसे खुलेआम बेच रहा है। एक अपील है आप सब दोस्तों से हो सके तो इस पोस्ट को शेयर करिये ताकि अमेजन पर दबाव बने और वह इस प्रोडक्ट को बेचना बन्द करे,



ऊप्स मूमेंट: स्त्री को देह बनाते कैमरे 

शिल्पी सिंह ने तल्ख़ प्रतिक्रया देते हुए लिखा: 

"लो भई! अब औरत के गुप्तांग में सिगरेट भी बुझाई जा सकती है. अभी तक रॉड, तेज़ाब, मोमबत्ती और न जाने क्या-क्या डाला गया. लेकिन यह नई सुविधा उपलब्ध करवाई है अमेज़न ने."


फ़ेसबुक पर रीवा सिंह ने अमेज़न के नाम एक 'खुला खत' लिखा है. रीवा लिखती हैं, "डियर अमेज़न, मुझे उम्मीद है कि आपकी टीम इस उत्पाद को एक मॉडल के तौर और आपके वरिष्ठ अफ़सर इसे अपनी साइट पर उतारते वक़्त होश में रहे होंगे. लेकिन आपकी रचनात्मकता ने हमारे पास कोई विकल्प नहीं छोड़ा है."

विज्ञापन के नाम पर स्त्रियों के खिलाफ यौन हिंसा को उकसाती तथाकथित रचनात्मकता पहले भी देखी गयी है, एक सरिया के विज्ञापन में सलमान खान ने भी इस उकसावे को अभिनीत किया है:

बहुत खूब कंगना राणावत, सलमान खान कुछ सीखो 


Blogger द्वारा संचालित.