कठमुल्लों को चेतावनी संघियों को इशारा : हाथ तोड़कर अल्लाह के भरोसे छोड़ देंगी महिलाएं, यदि उनपर हाथ उठाया तो !

काउंसिल ऑफ़ इस्लामिक आईडियोलॉजी (CII) की महिला सुरक्षा बिल में पतियों द्वारा पत्नियों की हल्की पिटाई की सिफारिश का सोशल मीडिया पर मुखर विरोध हो रहा है | पाकिस्तानी समेत अन्य देशों की महिलायें #TryBeatingMeLightly कैम्पेन चला रही हैं | इस कैम्पेन में महिलाओं को पीटने के खिलाफ धमकी दी जा रही है | इस कैम्पेन की शुरुआत पाकिस्तानी पत्रकार फहाद राजपर ने की| फहाद ने पाकिस्तानी महिलाओं की तस्वीरों के साथ उनके स्टेटमेंट इसके खिलाफ सोशल मीडिया पर जारी किये|



महिला विरोधी बिल में  क्या लिखा है?
CII के बिल के मुताबिक, महिलाएं हिजाब न पहनें, अजनबियों से बात करें, ज्यादा ऊंची आवाज में बोलें और शौहर की इजाजत के बिना किसी को पैसे दें तो शौहर पिटाई कर सकता है।
- यह भी कहा गया है कि महिला नर्सें पुरुष मरीजों का ध्यान नहीं रख सकतीं।
- प्राइमरी एजुकेशन के बाद लड़कियां को-एड स्कूलों में नहीं पढ़ सकतीं। महिलाएं किसी फौजी लड़ाई में हिस्सा नहीं ले सकतीं।
-  वे विज्ञापन  में काम नहीं कर सकतीं।
- महिलाएं फॉरेन डेलिगेशन का वेलकम नहीं कर सकतीं। वे पुरुषों से घुल-मिल नहीं सकतीं, अजनबियों संग घूमने-फिरने नहीं जा सकतीं।
कठमुल्लों के  खिलाफ  युवा पीढी 

इसके खिलाफ चल रहे कैम्पेन में महिलाओं ने क्या कहा : 

डॉक्टर शगुफ्ता अब्बास  ने लिखा , 'मुझे पीटकर तो देखो| जो हाथ मुझ पर उठाओगे उसे तोड़कर अल्लाह के भरोसे छोड़ दूंगी|
ब्लॉगर सदिया अहमद लिखती हैं, 'हमारा चैलेंज है पुरुष तो हमे अपने इंटीलेजिंस से पछाड़े| हम महिलायें सूरज की तरह है | हाथ लगाने की कोशिश की तो जलाकर राख कर दूंगी|'
फिजा रहमान लिखती हैं, 'तुम मुझे घर में पिटोगे, मै तुम्हे लोगो के बीच ले जाकर पीटूंगी|'
अदिका लालवानी ने लिखा, 'मुझे पीटने की कोशिश तो करके देखिये, मै तुम्हारे लिए तबाही बन जाउंगी |'
सुम्बुल उस्मान ने लिखा, 'मुझ पर हाथ भी उठाया तो तुम अगली सुबह देखने के लिये जिंदा नहीं बचोगे|'
प्रियंका पाहुजा ने लिखा, 'मुझे ड्राईविंग का 7 साल का अनुभव है | ऐसी कोशिश की तो तुम्हे कार से रौंद दूंगी |'
संदस रशीद ने लिखा, 'अगर मुझे पीटा तो तुम्हारी बाकि जिन्दगी दयनीय बना दूंगी और इसके लिये तुम खुद जिम्मेदार होगे|
सोशल मीडिया पर इस कैम्पेन को काफी समर्थन भी मिल रहा है|

पाकिस्तान की महिलाओं के ये दिलेर जवाब भारत सहित दुनिया भर के वैसे लोगों लोगों को चेतावनी भी है जो आज भी महिलाओं पर मर्दाना हुकुम को कुदरती मानते हैं . 
Blogger द्वारा संचालित.